कृषि मंत्री की अपील, महिलाओं और बच्चों को प्रदर्शन से बाहर भेजे किसान नेता, सरकार बातचीत को तैयार

भारत में लगातार तेजी से बढ़ रहे कोरोनावायरस के बीच भी किसान कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन पर बैठे किसानों में बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। कृषि कानूनों को लेकर अपनी जिद पर अड़े किसानों से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह कहा है कि किसान कोरोनावायरस से सुरक्षा के मद्देनजर प्रदर्शन स्थल से महिलाओं और बच्चों को वापस भेज दे। उन्होंने कहा कि सरकार लगातार बातचीत के लिए तैयार है लेकिन किसान नेताओं में भी आपसी सहमति नहीं बन पा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि कई  कृषि अर्थशास्त्री इन कृषि कानूनों की तारीफ कर चुके हैं। Kishan Protest Covid-19

वैक्सीन सियासत को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह का बयान, महज 5 दिन का बचा है स्टॉक

Agriculture Minister appeals, farmers sent out to women and children from protest, government ready to negotiate. Kishan Protest Covid-19
Kishan Protest File Photo, Source Internet

गृह मंत्री अमित शाह पर ममता दीदी का बड़ा आरोप, माँगा इस्तीफा

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार ने किसान  संगठनों से 11 दौर की वार्ताएं कर चुकी है। सरकार अभी आगे बातचीत के लिए तैयार है। उन्होंने किसान संगठनों से अपील की थी कि वे कृषि कानूनों के उन प्रावधानों को होता है जिनसे उन्हें दिक्कत है सरकार उन में बातचीत करके संशोधन करेगी। 

कोरोना के बढ़ते मामलों पर केंद्र चिंतित, प्रधानमंत्री ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

उन्होंने कहा लेकिन किसान संगठनों ने इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया और इसके स्वीकार न करने की वजह भी नहीं बताई। उन्होंने कहा कि यदि सरकार बातचीत के लिए तैयार नहीं होती तब यह इसके प्रदर्शन का कारण बनती है, लेकिन जब सरकार बातचीत के लिए तैयार है तो यह संगठन बातचीत क्यों नहीं करते।  उन्होंने कहा कि सरकार बातचीत के लिए हमेशा तैयार है यह किसान संगठनों को तय करना होगा कि बातचीत कब और कैसे होगी।

ममता बनर्जी को चुनाव आयोग का जबाब, नंदीग्राम के बूथ पर नहीं हुई हिंसा, जवानों पर लगाए गए आरोप गलत

कोरोनावायरस लगातार बढ़ते खतरों को देखते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रथम संगठनों से अपील की है कि वे बच्चों बुजुर्गों और महिलाओं को प्रदर्शन स्थल से वापस घर भेज दें। उन्होंने कहा है कि कोरोनावायरस की अब दूसरी लहर चल रही है।  उन्होंने कहा कि संक्रमण के खतरों  को देखते हुए किसान यूनियनों को भी कोरोनावायरस का पालन करना चाहिए। उन्होंने  किसान संगठनों से अपील की कि वे प्रदर्शनों को आगे बढ़ा दे और सरकार के साथ अपनी समस्याओं पर चर्चा करें। Kishan Protest Covid-19

छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में अब तक 22 जवानों की शहादत, 9 नक्सली ढेर

फेसबुक पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Facebook: RightIndians2020
ट्विटर पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Twitter: Right_Indians

Author: Tripathi RM