बिहार में ऑक्सीजन और जीवन रक्षक दवाओं की भारी कमी, सरकार से मदद की आस

देश में कोरोनावायरस की दूसरी लहर की वजह से कोरोना संक्रमण के मामलों में भयानक तेजी देखी जा रही है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए संक्रमण की चैन को तोड़ने की उद्देश्य से कुछ राज्यों में आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है। देश में कोरोनावायरस के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र राजस्थान उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों से आ रहे हैं। कोरोनावायरस से देश को बचाने की जिम्मेदारी एक बार फिर हेल्थ फ्रंटलाइनर जैसे कि डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ पर आ गयी है। Lack of oxygen in Bihar

रिसर्च: कोविड-19 संक्रमण से आलसी लोगों में मृत्यु का जोखिम अधिक

Lack of oxygen and life-saving drugs in Bihar, hope from government, Lack of oxygen in Bihar, Right indians,

उत्तर प्रदेश: एमबीबीएस के छात्रों की लगाई जाएगी आपात कोविड ड्यूटी, टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर

हॉस्पिटल मे बैड के साथ साथ अब इलाज के लिए आवश्यक संसाधनों की कमी भी बढ़ती जा रही है। बिहार के पटना के अस्पतालों में बेड की कमी की वजह से आसपास कोरोना मरीजों की भर्ती लेने से इनकार करने के मामले सामने आ रहे हैं। इस मामले पर अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की भारी कमी है ऐसे में यदि भर्ती भी ली जाए तो ऑक्सीजन की समुचित व्यवस्था नहीं की जा सकेगी।

बीएसएफ के जवानों में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

पटना के एक बड़े हॉस्पिटल के डॉक्टर का कहना है कि वर्तमान में अक्सीजन की डिमांड और सप्लाई के बीच 7 गुने से ज्यादा का अंतर है। प्राइवेट अस्पतालों के साथ-साथ सरकारी अस्पतालों मे भी ऑक्सीजन की किल्लत हो रही है। सरकार को जल्द से जल्द इस ओर कदम उठाने चाहिए।

ताइवान पर रार, चीन ने दी चेतावनी आग से न खेले अमेरिका

कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सिर्फ ऑक्सीजन ही नहीं बल्कि जीवन रक्षक दवाओं का भी टोटा है। बिहार के इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने खुले तौर पर यह बात स्वीकार की है कि बड़े पैमाने पर जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी की जा रही है। बिहार के इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सेक्रेटरी डॉ सुनील के मुताबिक रेमडेसीविर दवा पहले ₹3000 में आसानी से उपलब्ध थे लेकिन अब यह दवा आउट ऑफ स्टॉक है। इन दवाओं के लिए दुकानों पर मरीजों से ₹15000 तक वसूले जा रहे हैं। उनका कहना है कि अगर सरकार इस मुद्दे पर जल्द चल कोई कदम नहीं उठाएगी तो हालात और ज्यादा खराब होंगे। Lack of oxygen in Bihar

महाराष्ट्र: सहभोज के बाद एक ही गांव में पाए गये 93 कोविड-19 संक्रमित मरीज

कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेकाबू, राज्यपालों से अहम बैठक करेंगे प्रधानमंत्री

फेसबुक पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Facebook: RightIndians2020
ट्विटर पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Twitter: Right_Indians

Author: Tripathi RM