घाटी में सुरक्षाबलों पर हमलों के लिए मस्जिदों का सहारा ले रहे आतंकी: IG कश्मीर

जम्मू और कश्मीर समूल खात्मे के लिए के सुरक्षा बल अपनी पूरी कोशिश लगाए हुए हैं। आलम यह है कि घाटी में आतंकवाद कितना बैकफुट पर है कि आतंकी मस्जिदों की दीवारों का सहारा लेकर गोलीबारी कर रहे हैं। धार्मिक स्थलों की आड़ में गोलीबारी करके आतंकवादी भाग निकलने में कामयाब होते हैं। धार्मिक स्थलों की आड़ में छुपकर गोलीबारी करना और भाग निकलने के मामले अक्सर घाटी में देखने को मिलते हैं। कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिदेशक विजय कुमार ने सोमवार को बताया कि आतंकवादियों ने पंपोर, सोपोर और शोपियां में हमलों के लिए बार बार मस्जिदों का प्रयोग किया। Terrorists Hide in Mosques in Kashmir

उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी ने 50% एंबुलेंस को कोरोना कार्य में लगाने का निर्देश दिया

Terrorists Hide in Mosques in Kashmir, Terrorists hiding in mosques for attacks on security forces in the valley: IG Kashmir,

म्यांमार में फिर आक्रामक हुई सेना एक दिन में 82 लोगों को उतारा मौत के घाट

कश्मीर के आईजीपी के मुताबिक आतंकवादियों ने 19 जून 2020 को पंपोर में हमलों के लिए मस्जिदों की आड़ ली थी। सिलसिला यहीं नहीं थमा, आगे 1 जुलाई 2020 को भी सोपोर में और 9 अप्रैल 2021 में शोपियां में ऐसे ही आतंकवादी मस्जिदों की आड़ में छुपते और गोलीबारी करते रहे। ने कहा कि सार्वजनिक मस्जिद इंतजामियां, नागरिकों, समाज और मीडिया को शादियों के इस तरह के कृत्य की निंदा करनी चाहिए।

Congress Vaccine Politics: राहुल, प्रियंका ने फिर अलावा वैक्सीन की कमी का राग

आईजी ने बताया कि 9 अप्रैल को सोफिया में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में कुल पांच आतंकवादी मारे गए थे। यह सभी आतंकवादी यहां एक मस्जिद के अंदर छुप कर गोलीबारी कर रहे थे। मस्जिद को नुकसान न पहुंचे इसके लिए तो सुरक्षाबलों ने इमाम को अंदर भेजा। हालांकि आतंकवादियों को समझाने की कोशिश नाकामयाब रहे और आतंकवादियों ने फिर से गोलीबारी शुरू कर दी। लेकिन मस्जिद से बाहर निकलने की कोशिश करते समय सुरक्षा बलों ने सभी आतंकवादियों को मार गिराया।

महाराष्ट्र मेंआज लगाया जा सकता है दो हफ्तों का कंप्लीट लॉकडाउन

आईजी ने बताया कि इसी तरह 19 जून 2020 को है पंपोंर में मुठभेड़ के दौरान तीन आतंकवादी मारे गए थे। यह आतंकवादी भी शरण लेने के लिए जामिया मस्जिद में घुस गए थे। इसी तरह 1 जुलाई 2020 को सोपोर में एक मस्जिद से सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादियों द्वारा गोलीबारी की गई जिसमें 1 जवान और एक नागरिक की मौत हो गई थी। Terrorists Hide in Mosques in Kashmir

दीदी एक ही बात कहतीं है कि अमित शाह इस्तीफा दें, लेकिन 2 मई को उनको ही इस्तीफा देना पड़ेगा: अमित शाह

फेसबुक पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Facebook: RightIndians2020
ट्विटर पर राईट इंडियन्स से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। ~ Twitter: Right_Indians

Author: Tripathi RM